Home Career & Employment भारत में पुस्तक प्रेमियों के लिए ये कुछ बेहतरीन करियर ऑप्शन्स हैं

भारत में पुस्तक प्रेमियों के लिए ये कुछ बेहतरीन करियर ऑप्शन्स हैं

जिस तरह से हमारे शरीर को स्वस्थ रहने के लिए रोज़ाना पौष्टिक भोजन की आवश्यकता होती है, ठीक उसी तरह, अच्छी पुस्तकों हमारी आत्मा और दिमाग की खुराक होती हैं। हमारे जीवन में बहुत हद तक सकारात्मक बदलाव लाने के लिए अच्छी किताबों का बहुत योगदान होता है। ऐसे में कई लोगों को बहुत-सी किताबें पढ़ने का शौक होता है और वे रोज़ाना अच्छी किताबें पढ़ना चाहते हैं। हमारे देश भारत सहित दुनिया के ज्यादातर देशों के हरेक बड़े शहर में सार्वजनिक पुस्तकालय की सुविधा अक्सर होती है।

इसी तरह, बहुत से बुक रीडर्स या पुस्तक प्रेमी दिन-रात अच्छी और उपयोगी पुस्तकें पढ़ना चाहते हैं। अगर आप भी किताबों से बहुत लगाव है या फिर, आप एक पुस्तक पुस्तक प्रेमी हैं, तो भारत में आपके लिए कुछ बेहतरीन करियर विकल्प उपलब्ध हैं। अधिक जानने के लिए, बड़ा ध्यान

लेखक

कहानी, उपन्यास, कविता, नाटक या पटकथा उन लोगों के लिए एक बहुत उम्दा करियर ऑप्शन है जो शब्दों के माध्यम से अपने विचार बखूबी पेश कर सकते हैं। जिस काम को करना आपको स्वाभाविक रूप से अच्छा लगता है और उस काम को करने से काफी संतोष मिलता है तो आप उस करियर को जरूर अपनाएं। अगर आप एक ऐसी पुस्तक लो हैं जिसकी वित्तीय स्थिति काफी अच्छी है तो आप राइटर बन सकते हैं। भारत में कई ऐसे नौजवान लेखक हैं जिन्होंने लीक से हट कर लिखा है और उनकी किताबें हाथों-हाथ बिकी हैं। इसलिए, अगर आपको लगता है कि एक ऐसी किताब लिखने की क़ाबलियत आपमें मौजूद है जिससे लोगों का जीवन बदल जाए तो सार्थकौर राइटर अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

ट्रांसलेटर

किसी एक स्रोत लैंग्वेज से किसी अन्य टारगेट लैंग्वेज में समान अर्थों में किसी लेख को ट्रांसलेट करने वाले व्यक्ति को ट्रांसलेटर या लेखक कहते हैं। एक पुस्तक प्रेमी वास्तव में एक काबिल ट्रांसलेटर अनिवार्य बन सकता है। हमारे देश में केंद्र और राज्यों के विभिन्न मंत्रालयों और सरकारी विभागों, डातावासों, मल्टीनेशनल कंपनियों, कॉर्पोरेट हाउसेस, न्यूजपेपर्स, मैगजीन्स, सोशल मीडिया, नॉन-गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन्स, बैंक्स और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट्स के साथ ही सेंट्रल सेक्टर्स में ट्रांसलेटर्स की मांग निरंतर रहती है। किसी भी सरकारी विभाग में शुरू में कैंडिडेट्स को जूनियर ट्रांसलेटर के तौर पर काम करना होता है। कुछ वर्षों के अनुभव के बाद कैंडिडेट्स की पदोन्नति सीनियर ट्रांसलेटर के तौर पर हो जाती है।

ऑफ़लाइन या ऑफलाइन कंटेंट राइटर / टेक्निकल राइटर

उक्त करियर्स भी पुस्तक प्रेमियों के लिए कुछ खास ऑप्शन्स साबित हो सकते हैं। इंटरनेट और डिजिटल दौर में आजकल नर्सिंग या ऑफलाइन कंटेंट राइटर / टेक्निकल राइटर्स की भी काफी मांग है और हिंदी एक्सपर्ट्स हिंदी भाषा में यह पेशा बखूबी जावइन कर सकते हैं। यहां भी करियर ग्रोथ की काफी आशाजनक संभावनाएं हैं।

कॉपी राइटर / कॉपी एडिटर

अगर यह कहा जाए कि दुनिया भर में कारोबार की नींव में इन पेशेवरों का काफी महत्वपूर्ण योगदान है, तो यह बात काफी हद तक सही है। पुस्तक लव और विभिन्न लैंग्वेजेज में एक्सपर्ट्स कॉपी एडिटर बनकर काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं। देश-दुनिया में रिडिंग की विभिन्न क्षेत्रों और प्रकाशन से जुड़े प्रोफेशनल्स कॉपी एडिटर्स के काम से अच्छी तरह परिचित हैं। कॉपी एडिटर्स हरेक आर्टिकल की गलतियां हटाकर, उसकी ग्रामर में सुधार करके और उस आर्टिकल की भाषा में रचनात्मक बदलाव के माध्यम से उस आर्टिकल को कम शब्दों में भी काफी प्रभावी और रिजेबल बना सकते हैं। कॉपी एडिटर्स प्रमुख रूप से रिहर्स और कॉन्टेंट रिहर्स के फाइनल ड्राफ्ट्स को एडिट द्वारा, आर्टिकल्स में से सभी किस्म की ग्रामर, स्पैलिंग और फेक्चूअलिटी को हटा देते हैं।

मुक्त करनेवाला

हमारे देश में पुस्तक प्रेमी और लैंग्वेज एक्सपर्ट फ्रीलांसर्स के लिए भी काम के अवसरों की कोई कमी नहीं है, फिर चाहे वह काम हिंदी में स्टडी नोट्स तैयार करना हो, हिंदी ट्रांसलेशन, हिंदी टाइपिंग या हिंदी कंटेंट मैटर तैयार करना हो। फ्रीलांसर्स अपने घर या किसी दफ्तर में अपनी सुविधा के बारे में अपने प्रोजेक्ट्स को अप्रैलिंग / ऑफलाइन पूरा कर सकते हैं और ये कीमत भी प्रोजेक्ट्स के मुताबिक ही दी जाती हैं। कई जाने-माने फ्रीलांसर्स सालाना लाखों रुपये कमाते हैं।

पत्रकार

इन राइटर्स इन प्रदर्शन – इंटरव्यूज, फैक्ट्स, रिपोर्ट्स, इवेंट्स आदि की जानकारी जुटा कर आर्टिकल्स तैयार करते हैं और फिर उन आर्टिकल्स की एडिटिंग और प्रूफ-रीडिंग करने के बाद इंटरनेट, टेलीविज़न, न्यूज़पेपर्स, मैगज़ीन्स आदि में रीडिंग फॉर्मेट में प्रस्तुत करते हैं। अगर आप योग्यताएं नहीं कर सकते हैं तो आप भी अपने डेस्क से विभिन्न कलाकारों के एडिटिंग कर सकते हैं।

लॉयर

हमारे देश में पुस्तक प्रेमियों के लिए लॉ की फील्ड में लॉयर का पेशा हमेशा लोकप्रिय रहेगा। आजकल इस लॉ-फिल में साइबर लॉज सहित इसमें क्रिमिनल, लिटिगेशन, इंजीनियरिंग, सिविल आदि कई लॉ फील्ड शामिल हो गए हैं। अगर हम काउंटी लॉ की बात करें तो विभिन्न बड़ी कंपनियों में काउंटी लॉयर्स एवारेज रु। 7 लाख सालाना कमाते हैं। अगर आपने किसी टॉप लॉ इंस्टीट्यूट / स्कूल से लॉ में डिग्री प्राप्त की है तो आपका सालाना पैकेज और भी बेहतर होगा। इस पेशे में तरक्की करने पर और अपनी प्रैक्टिस शुरू करने के बाद देश के नामी वकील एडवोकेट एक अदालत पेशी के रु। 5 लाख से रु। 1 करोड़ तक फीस लेते हैं।

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com । विजेट कर सकते हैं।

अन्य महत्वाकांक्षी सूची

इंडियन कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए ये इस साल के कुछ बेहतरीन कोर्स ऑप्शंस हैं

कोविंड 19 लॉकडाउन: लेटेस्ट जानकारी और इंटरटेनमेंट के लिए मुफ्त ई-बुक्स

ऑफलाइन लर्निंग: कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए मॉडर्न और फायदेमंद कॉन्सेप्ट





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments