Home Career & Employment भारत में एडवरट संशोधन की फील्ड में करियर स्कोप

भारत में एडवरट संशोधन की फील्ड में करियर स्कोप

पूरी दुनिया में ऐनेकर्स दिलो-दिमागों पर छा जाने वाले और दिमाग को लुभाने वाले एडवरटाइजमेंट्स की वजह से लगातार लाभ कमाते हैं। भारत में भी एडवरटाइजिंग उद्योग में आशातीत विकास हुआ है। भारत में अब करोड़ों इंटरनेट यूजर्स हैं और यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ऑनलाइन मार्केट के तौर पर अपनी जगह बना चुकी है। अब, भारत के इंटरनेट यूजर्स लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं, जिसके कारण हमारी एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में भी क्रांतिकारी बदलाव आ रहे हैं। वर्तमान में, 9 बिलियन अमेरिकी डॉलर के रेवेन्यु के साथ भारत ने दुनिया की 9 वीं सबसे बड़ी एडवरटाइजिंग मार्केट होने का दर्जा हासिल कर लिया है। इन सभी कारणों से भारत के यंग प्रोफेशनल्स में एडवरटाइजिंग की फील्ड्स में करियर बनाने का क्रेज भी लगातार बढ़ रहा है। इस आर्टिकल में हम आपके लिए भारत में एडवरटाइजमेंट की फील्ड में उपलब्ध आशाजनक करियर स्कोप की चर्चा कर रहे हैं। आइये आगे पढ़ें

भारत में एडवरटाइजिंग में करियर के लिए जरुरी एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

हमारे देश में एडवरटाइजिंग की फील्ड में अपना करियर शुरू करने के लिए स्टूडेंट्स या कैंडिडेट्स अगर एडवरटाइजिंग की किसी संबंधित विंग में कोई डिग्री, 9- या सर्टिफिकेट कोर्स कर लें तो उन्हें इसका फायदा जरूर मिलता है। हमारे देश में एडवरटाइजिंग की फील्ड में कोई कोई डिग्री नहीं है। पीजी कोर्स करने के लिए एडवरटाइजिंग की फील्ड या किसी संबंधित फील्ड में ग्रेजुएशन की डिग्री अनिवार्य होती है।

भारत में उपलब्ध ये प्रमुख एडवरटाइजिंग कोर हैं

• कंप्यूटर – एडवरटाइजिंग और मार्केटिंग कम्युनिकेशन्स
• कंप्यूटर – जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन
• फिल्म – फिल्म, टेलीविज़न और डिजिटल वीडियो प्रोडक्शन
• सर्टिफिकेट कोर्स – मीडिया और विजूअल आर्ट्स कनेक्ट
• सर्टिफिकेट कोर्स – एडवरटाइजिंग, सेल्स प्रमोशन एंड सेल्स मैनेजमेंट
• बा – फिल्म स्टडीज
• बुलेट – मास कम्युनिकेशन और (प्रमुख वोकेशनल)
• श्रेणी – मल्टीमीडिया और
• पीजीवाई कार्यक्रम – एडवरटाइजिंग और सार्वजनिक संबंध
• पीजी ने प्रोग्राम – एडवरटाइजिंग और मीडिया
• पीजी सर्टिफिकेट प्रोग्राम
• एमए – इंटरटेनमेंट, मीडिया और एडवरटाइजिंग

भारत में एडवरटाइजिंग में इंटर्नशिप

एड्वर्टिंग की फील्ड में अंडरग्राउंड, पोस्टेड डिग्री कोर्स, सर्टिफिकेट कोर्स या बीए कोर्स पूरा करने के बाद इस फील्ड में अपना मनचाहा करियर शुरू करने से पहले कैंडिडेट को किसी प्रसिद्ध एडवरटाइजिंग एजेंसी में 6 साल या 1 साल की इंटर्नशिप (पेड / अनपेड) जरूर करें। कर लेनी चाहिए ताकि उन्हें एडवरटाइजिंग की फील्ड में होने वाले काम के साथ-साथ एडवरटाइजिंग एजेंसीज के वर्क कल्चर का पता चल सके। इससे फ्रेशर कैंडिडेट्स का आत्म विश्वास बढ़ेगा। यदि कोई फ्रेशर कैंडिडेट अपनी एडवरटाइजिंग एजेंसी शुरू करना चाहता है तो उसे भी इंटर्नशिप करने से काफी फायदा होगा।

भारत में ये टॉप इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज में जवाइन करें एडवरटाइजिंग कोर्सेज

• इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
• नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवरटाइजिंग, नई दिल्ली
• दिल्ली विश्वविद्यालय
• इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
• वाईएमसीए सेंटर फॉर मास मीडिया
• मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली
• मुद्रा इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन्स, अहमदाबाद
• ज़ेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ़ कम्युनिकेशन्स, मुंबई
• मुंबई विश्वविद्यालय, मुंबई
• सेंट ज़ेवियर कॉलेज, कलकत्ता

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में करियर बनाने के लिए जरुरी स्किल सेट

एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री की किसी भी लाइन में अपना करियर शुरू करने के लिए कैंडिडेट के पास स्पेशल स्किल सेट होने पर उन्हें अपने करियर में प्रमोशन के लिहाज से काफी फायदा मिलता है जैसे:

• एडवरटाइजिंग की फील्ड में प्रबंधित होने के लिए कैंडिडेट के पास प्रभावी कम्युनिकेशन स्किल्स होने चाहिए।
• एडवरटाइजमेंट तैयार करने के बाद उस एडवरटाइजमेंट को प्रभावी तरीके से प्रेजेंट और उस एडवरटाइजमेंट की मार्केटिंग को पूरा करने से संबंधित स्किल्स भी जरूरी हैं।
• टीम के साथ मिलजुल कर विभिन्न एडवरटाइजिंग प्रोजेक्ट्स पूरे करने में मदद करते हैं।
• लीडरशिप स्किल्स से बेहतरीन एडवरटाइजमेंट्स तैयार कर पाने में काफी मदद मिलती है।
• एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में आपको देर रात तक और वीकेंड्स पर भी काम करना पड़ता है इसलिए स्ट्रेस और प्रेशर में काम करने की आदत होनी चाहिए।
• मेरे विश्वास में आत्म विश्वास और कॉम्पीटीटिवनेस से भी कैंडिडेट्स का करियर ग्राफ आगे बढ़ता ही जाता है।

भारत में एडवरटाइजिंग की फील्ड में उपलब्ध हैं

हमारे देश की एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री अब ऑड-विजुअल के साथ डिजिटल और ऑफलाइन भी बन चुकी है और इस इंडस्ट्री में निम्नलिखित पेशेवर अपना करियर शुरू कर सकती हैं:

• क्रिएटिव डायरेक्टर
• कलाकार निर्देशक
• कॉपी राइटर
• ट्रांसलेटर
• DRM हेड
• प्रत्यक्ष DRM प्रबंधक
• ऑफ़लाइन / डिजिटल मार्केटिंग हेड
• इंटरनल मार्केटिंग मैनेजर
• डिजाइनर डिजाइनर
• ग्राहक सेवा
• इंजीनियरिंग समुदाय
• सार्वजनिक अवकाश

भारत में प्रमुख एडवरटाइजिंग जॉब प्रोवाइडर्स

हमारे देश के यंगस्टर्स जिन टॉप एडवरटाइजिंग एजेंसियों में काम करना चाहते हैं, उनकी लिस्ट निम्नलिखित है:

• हिंदुस्तान थोम्सन एसोसिएट्स (एचटीए)
• मेकसन एरिक्सन
• लियो बरनेट,
• लिवांटास इंडिया लि।
• मुद्रा कम्युनिकेशेशन्स लि।
• क्रेसास एडवरटाइजिंग
• हावास वर्ल्डवाइड इंडिया
• फाउंटेनहेड डिजिटल
• फॉरच्यून कम्युनिकेशंस
• ऊर्जा कम्युनिकेशंस

भारत में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में शुरू में किसी फ्रेशर कैंडिडेट को एवरेज रु। 8 हजार प्रति माह मिलते हैं और किसी प्रबंधन ट्रेनी को इस उद्योग में शुरू में लगभग 15 हजार – 20 हजार रु। मिलते हैं। कुछ वर्षों के अनुभव के बाद किसी प्रसिद्ध एडवरटाइजिंग एजेंसी में कैंडिडेट्स को 30 हज़ार रूपए मासिक का सैलरी पैकेज भी मिलता है। एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में एक टैलेंटेड और अनुभवी क्रिएटिव डायरेक्टर को सबसे ज्यादा सैलरी मिलती है जैसेकि किसी क्रिएटिव डायरेक्टर को रहना। 10 लाख सालाना तक का सैलरी पैकेज मिलता है। आर्ट डायरेक्टर को इस इंडस्ट्री में एवरेज 4.75 लाख सालाना का सैलरी पक्कागे मिलता है।

भारत में एडवरटाइजिंग उद्योग में प्रोफेशनल्स की एवरेज सालाना सैलरी निम्नलिखित है:

• मार्केटिंग हेड -3.50 लाख – 5 लाख रु।
• वार्षिक / डिजिटल मार्केटिंग हेड – 2.50 लाख – 3.75 लाख रु।
• कॉपी राइटर – 1.15 लाख – 2.25 लाख रु।
• बास्केटबॉल डिज़ाइनर – 1.75 लाख – 2.20 लाख रु।
• डायरेक्ट मार्केटिंग मैनेजर – 2 लाख – 3.75 लाख रु।
• इंटरनल मार्केटिंग मैनेजर – 2.50 लाख – 3.50 लाख रु।
• पब्लिक रिलेशन एग्जीक्यूटिव – 1.50 लाख – 2.50 लाख रु।

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजेट कर सकते हैं।

अन्य महत्वाकांक्षी सूची

भारत में आपके लिए फोटोग्राफी में भी बेहतरीन करियर स्कोप है

भारत में न्यूज़ एंकर का करियर और जॉब प्रोफाइल

जानिए ये हैं भारत में सार्वजनिक नीति के कोर्सेज और करियर की अपीलों





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments